क्वारेंटाईन सेंटर में मरीजों के रिपोर्ट आने के बाद ही उन्हें छोड़े-कलेक्टर….सामाजिक पेंशन, वृद्धा पेंशन, दिव्यांग पेंशन के हितग्राहियों के लिए हेल्पडेस्क बनाएं…..चैदहवें वित्त के राशि का उपयोग पंचायत के विकास कार्य के लिए होगा नियम के विरूद्ध कार्य करने पर होगी कार्यवाई….सुबह 7 बजे से सांय 6.30 बजे तक खुलें रहेंगे दुकानें…..सांय 7 बजे से सुबह 7 बजे तक धारा 144 का उल्लंघन करने पर होगी कार्यवाही…..ठेले संचालकों को 20 मीटर की दूरी पर ठेला लगाने के निर्देश, ठेलों में खड़े होकर खाने नहीं होगी सुविधाकार्य के दौरान मास्क लगाकर सोशल डिस्टेंश का करना होगा पालन

0
13

जशपुरनगर 02 जून 2020/कलेक्टर श्री महादेव कावरे ने आज अपने कक्ष में मोबाईल एप्लिकेशन के माध्यम से 8 विकासखंडों के एसडीएम, जनपद सीईओ, कृषि अधिकारी, ग्राम पंचायतों के सचिवों की समीक्षा बैठक लेकर कोरोना वायरस संक्रमण के सुरक्षा के उपाए, सोसायटी में खाद-बीज का भण्डारण, सरगुजा प्राधिकरण के कार्य, मनरेगा के कार्य की प्रगति, टिड्डी दल के बचाव के संबंध में किसानों को दिशा निर्देश, समाजिक सुरक्षा पेंशन, वृद्धा पेंशन, दिव्यांग पेंशन, पंचायतों में दिए जाने वाले 14वीं वित्त के कार्य, आरबीसी 6-4 के प्रकरण, प्रधानमंत्री आवास योजना, जीईओ टैगिंग के कार्याें की विस्तार से समीक्षा की। कलेक्टर ने सभी एसडीएम एवं जनपद सीईओ को निर्देशित करते हुए कहा कि अपने क्षेत्र के क्वारेंटाईन सेंटर में रहने वाले मजदूर श्रमिकों की टेस्ट रिपोर्ट आने के 14 दिनों के बाद उन्हें छोड़े। उन्होंने कहा कि कोरोना के पाॅजिटिव रिपोर्ट आने पर मरीज को तत्काल उन्हें मेडिकल काॅलेज भेंजें साथ ही क्वारेंटाईन सेंटर में सांप, बिच्छु सहित अन्य जीव-जन्तुओं से बचाव के लिए दरवाजें खिड़कियों को कवर करने के लिए कहा गया है। उन्होंने क्वारेंटाईन सेंटर में पानी, शौचालय बिजली, सहित अन्य बुनियादी सुविधाओं के साथ ही मनोरंजन के लिए टीव्ही की भी व्यवस्था करने के निर्देश दिए है।
कलेक्टर ने जनपद सीईओ को कड़ी हिदायत देते हुए कहा है कि ग्राम पंचायतों में 14वें वित्त का राशि दिया गया है। इसका उपयोग ग्राम पंचायतों के विकास कार्याे ंके लिए खर्च किए जाएं। उन्होंने 14 वें वित्त की राशि का उपयोग नियम के तहत् ही करने कहा है नियम के विरूद्ध कार्य करने वाले अधिकारियों पर कड़ी कार्यवाही करने की चेतावनी दी है। उन्होंने ग्राम पचंायतो के सचिवों से भी वीडियो कांफ्रेस के माध्यम से पंेशन भुगतान के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने एसडीएम से आरबीसी 6-4 के प्रकरणो ंकी जानकारी ली और सर्पदंश, पानी डूबने, आकाशीय बिजली, सड़क दुर्घटना के प्रभावितों को सहायता राशि का भुगतान प्राथमिकता से करने के निर्देश दिए है। उन्होंने अधिकारियों को थाने से रिपोर्ट, तत्कालिक प्रतिवेदन और मृत्यु प्रमाण-पत्र तत्काल मंगाकर प्रभावित हितग्राहियों को राशि का भुगतान करने के निर्देश दिए है। इस अवसर पर वीडियो कांफ्रेस के माध्यम से जिला पंचायत सीईओ के.एस.मण्डावी, समस्त एसडीएम, जनपद सीईओ, विभागी अधिकारी, ग्राम पंचायत सचिव, ई-डिस्ट्रीक मैनेजर श्री नीलांकर बासु जोड़े थे।
ठेलों संचालकों के लिए दिशा निर्देश जारी
कलेक्टर ने जिले में दुकानों के खोलने की समय-सीमा सुबह 7 बजे से सांय 6.30 बजे तक निर्धारित किया गया है। शहरों में चाट-ठेलों, गुमटी लगाने वाले व्यवपारियों को अपने ठेले की दुरियां 20 फीट तक रखने के निर्देश दिए है। सोशल डिसटेंश का पालन मास्क लगाकर करने कहा गया है। उन्होंने कहा कि टेक अवे अनिवार्य होगा। ठेले में खड़े होकर खाने की सुविधा नहीं होगी। प्रत्येक ठेले के व्यपारियों को सेनेटाईजर रखना भी अनिवार्य है। ठेले के पास गोल मार्किंग किए जाने के भी सख्त निर्देश दिए गए है। ठेलों के पास मुंह धाना, थुकना, गंदगी फैलाना प्रतिबंधित किया गया है।  उन्होंने कहा है कि सांय 7 बजे से सुबह 7 बजे तक सभी व्यक्तियों को जिले में लागू धारा 144 का पालन करना अनिवार्य होगा। कोई भी व्यक्ति घर से बाहर नहीं निकलेगा और लाॅकडाउन के नियमों का कड़ाई से पालन करेगा। नियम का उल्लंघन करने वालों पर कलेक्टर ने कार्यवाही किए जाने के निर्देश दिए हैं।
कलेक्टर श्री कावरे ने मनरेगा के तहत् संचालित कार्य डबरी निर्माेण, तालाब गहरीकरण को 15 जून से पूर्व पूर्ण करने के निर्देश दिए है। उन्होंने कहा है कि कार्य स्थल पर बोर्ड लगाने के भी निर्देश दिए है। साथ ही मजदूरों को मछली पालन के कार्य को भी बढ़ावा देने के लिए जोर देने के लिए कहा गया है। जनपद सीईओ फरसाबहार को चारागाह का प्रस्ताव प्रस्तुत करने के निर्देश दिए है। साथ ही बन रहे गौठानों में शौचालय की भी व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए है। कलेक्टर ने जनपद सीईओ से वृद्धा पेंशन, सामाजिक पेंशन, दिव्यांग पेंशनके संबंध में भी जानकारी ली। जनपद सीईओ ने बताया कि मार्च तक का भुगतान कर दिया गया है। कलेक्टर ने अधिकारियों को ग्राम पंचायत स्तर पर हेल्पडेस्क बनाकर आधार लिंक और अन्य समस्याओं का निराकरण करके पेंशन का भुगतान करने के निर्देश दिए।
टिड्डी दल से बचाव के लिए ग्रामीणों को उपाए साझा करने के निर्देश
कलेक्टर श्री कावरे टिड्डी दल से बचाव के लिए ग्रामीणों से उपाए साझा करने के निर्देश कृषि अधिकारियों को दिए है। उन्होंने कहा है कि टिड्डी दल को भगाने के लिए टेªक्टर के साईलेंसर निकालकर चालू करके भी तेज ध्वनि कर सकते हैं। शोर से टिड्डी दल आस-पास के खेतों में आक्रमण नहीं कर पाती। टिड्डी दल का समूह जब भी आकाश में दिखाई पड़े तो उनके उतरने से रोकने के लिए तुरंत अपने खेतों के आसपास मौजूद घास-फूस से धुंआ अथवा आग जलाना चाहिए। जिससे टिड्डी दल आपके खेत में न बैठकर आगे निकल जाए। उन्होंने कहा है कि किसान भाई अपने आस पास टिड्डी दल देखें या उनके बारे में कुछ खबर मिले तो, पुलिस थान, राजस्व विभाग, कृषि विभाग, ग्राम पंचायत अन्य किसी सरकारी कार्यालय में संपर्क कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here