आशीष तिवारी आप की आवाज रायपुर

रायपुर । छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल का प्रत्येक जवान और सेनानी बहुत ही बहादुरी से कार्य कर रहे हैं। विपरीत परिस्थितियों और परिवार से दूर रहते हुये जवान साहस के साथ डटे हुये हैं। सभी बटालियन के सेनानी अभिनव कार्य कर रहे हैं। जिससे जवानों में कार्य के प्रति उत्साह बना रहता है। उक्त बातें डीजीपी डीएम अवस्थी ने पुलिस मुख्यालय में आयोजित सेनानी सम्मेलन के आयोजन के दौरान कहीं। सेनानी सम्मेलन में सभी बटालियन के सेनानी उपस्थित हुये। इस दौरान उन्होंने अपनी मांगे रखीं और सुझाव भी दिये।

डीजीपी ने कहा कि आप सभी जवानों में उत्साह बनाये रखिये, आप लोगों की जो भी मांगे हैं उन्हें पूरा किया जायेगा। छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल के जवान और एसटीएफ बेहतरीन कार्य कर रहे हैं। छत्तीसगढ़ पुलिस जवानों को सभी बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराएगी। उन्होंने कहा कि सभी कैंप में मैं स्वयं आकर निरीक्षण करूंगा। सभी कमांडेंट अपनी कंपनी में अच्छा कार्य करने वाले कंपनी कमांडर और प्लाटून कमांडर के नाम भेजें, उन्हें रायपुर बुलाकर सम्मानित किया जाएगा। सम्मेलन में कुछ सेनानियों ने मांग रखी कि उनके मुख्यालय में प्रशासनिक भवन की आवश्यकता है। कुछ ने बटालियन में फेंसिंग की आवश्यकता बतायी। जिस पर डीजीपी ने तत्काल स्वीकृति प्रदान कर दी।  डीएम अवस्थी ने कहा कि शराब की लत में फंस चुके जवानों के जीवन और परिवार को बचाने के लिये रायपुर में विशेष कैंप लगायेंगे। जहां उनके लिये विशेषज्ञों के द्वारा उनकी गलत आदत को छुड़वाने का प्रयास करेंगे। जिससे उन्हें और परिवारों को बर्बाद होने से बचाया जा सके।

सम्मेलन में विशेष पुलिस महानिदेशक   आर के विज, पुलिस महानिदेशक नक्सल ऑपरेशन श्री अशोक जुनेजा, एडीजी हिमांशु गुप्ता, एडीजी   एसआरपी कल्लूरी , आईजी इंटेलीजेंस डॉ आनंद छावड़ा , डीआईजी सीएएफ हेतराम मनहर एवं सभी सेनानी उपस्थित रहे।

‘पुलिस श्वान प्रशिक्षण एवं प्रबंधन पुस्तक’ का विमोचन- सेनानी सम्मेलन के दौरान डीजीपी श्री डीएम अवस्थी ने पुलिस श्वान प्रशिक्षण एवं प्रबंधन पुस्तक का विमोचन किया। पुस्तक को सातवीं बटालियन के कमांडेंट विजय अग्रवाल ने लिखा है। जिसमें पुलिस श्वान से संबंधित सभी पहलुओं पर प्रकाश डाला गया है। पुस्तक में श्वान के पूर्वज, प्रजातियां, छत्तीसगढ़ श्वान दल का गठन, श्वान उपलब्धियां, प्रशिक्षण, श्वान की बीमारियां, उपचार, डाईट और हेल्थ रिकॉर्ड आदि की विस्तृत जानकारी दी गयी है। डीजीपी अवस्थी ने कहा कि समाज के सबसे वफादार साथी श्वानों के विषय में यह पुस्तक बहुत उपयोगी साबित होगी।