जवान बेटे का शव देखने को तरसे परिजन , लॉकडाउन के चलते पूना में ही हुआ अंतिम संस्कार

0
14

संवाददाता-अमित बंजारे

न्यूज़-पथरिया


अपने जीवन व्यापन के लिए रोजगार की तलाश में अनेको गरीब एवं मज़दूर लोग अन्य राज्यो में गए हुए है । जो अब कोविड-19 के प्रकोप के चलते अपने अपने घर वापसी की राहें ताक रहे है । प्रदेश सरकार द्वारा उन्हें लाये जाने के लिए अनेको प्रयास किये जा रहे है । लेकिन इसी बीच पुना में रोजगार की तलाश में गए एक युवक की मौत होने से पूरे गाँव में शोक की लहर फैल गई है ।
पूरा मामला पथरिया विकासखण्ड के ग्राम पंचायत पौसरी का है । जहाँ का निवासी भगत यादव पिता मनीराम यादव उम्र 35 वर्ष अपने परिवार के पालन पोषण करने के लिए पुना गया हुआ था । जिसका 14 मई के रात 10 बजे स्वास्थ्य कारणों की वजह से देहांत हो गया । इसकी सूचना ग्रामवाशियो को मिलने पर पूरे गाँव मे मातम छा गया ।
मिली जानकारी के अनुसार मृतक भगत यादव अपनी पत्नी और बाल बच्चो को ग्राम पौसरी में छोड़ कर पुना गया हुआ था । जहाँ वह अपने साढू के साथ सेरेनाव नामक कंपनी में काम करता था। प्रतिदिन की भांति 14 मई के सुबह भी वह अपने कार्यक्षेत्र में काम करने गया था । जहाँ से वह दोपहर एक बजे काम करके लौटा । तभी अचानक शाम के समय उसके पेट मे दर्द उठने से उसके साथी ने हॉस्पिटल लेजाकर उसे भर्ती कराया । इलाज के दौरान रात 10 बजे डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित किया । मौत की वजह उसकी अतड़ी का फटना बताया गया । इसके बाद उसके साढू ने मृतक के परिजनों को फोन के माध्यम से पूरी घटना की जानकारी दी । जिसके बाद से पूरा परिवार शोकाकुल हो गया ।

अंतिम समय मे भी नही हो सके जवान बेटे के दर्शन –
बताते चले कि मृतक की दो छोटी छोटी बेटियां है जो क्रमशः एक और तीन साल की है । ऐसे में इस छोटी से उम्र में ही इन बच्चियो के सिर से बाप का साथ छूट जाना एक हृदय विदारक घटना है । मौत की खबर मिलने के बाद मृतक के अंतिम संस्कार के लिए प्रारम्भ में इसे गृह ग्राम लाने की बात ग्रामीणों द्वारा कही जाने लगी । लेकिन वर्तमान में लॉकडाउन की स्थिति में मृतक में शव को गृह ग्राम न लाकर पुना में ही उसका अंतिम संस्कार किया गया । जिससे मृतक के माँ बाप अपने जवान बेटे के शव को अंतिम समय मे भी देखने को तरस गए।

ग्रामवाशियो ने किया मृतक के परिजनों के लिए आर्थिक मदद की मांग –
मृतक युवक की मौत की खबर सुनते ही पूरा गाँव उसके परिजनो को दुख के समय मे साहस देने पहुँचा । जहाँ ग्राम वाशियो में अपने जनप्रतिनिधियो के माध्यम से शासन प्रशासन से मृतक के परिजनों को सहायता के रूप में आर्थिक मदद दिलाने की मांग की ।

जनपद पंचायत पथरिया के मुख्यकार्यपालन अधिकारी कुमार सिंह ने कहा कि मृतक यदि बीपीएल सर्वेसूची में शामिल होगा तो संबंधित मृतक के परिजनों को राष्ट्रीय परिवार सहायता के तहत बीस हजार रुपये की आर्थिक मदद मिल जाएगा वही मृतक के पत्नी को पेंशन की पात्रता होगी । साथ ही इस संकट के समय मे परिजनों द्वारा बेटे का अंतिम संस्कार पुना में कराए जाने के निर्णय को साहसिक बताते हुए उनके परिजनों को हरसंभव मदद दिलाने की बात कही ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here