रेल्वे के साथ साइकिल स्टैंड पर भी छा गई वीरानी

0
19


सैकड़ों की संख्या में खड़ी है लावारिस गाड़ियां
लाखों की कीमत वाली फैंसी बाइक का कोई भी मालिक नहीं
बिलासपुर :- भारतीय रेल यात्रीयो कि गाड़ियां क्या स्थगित हुई स्टेशन के बाहर जिन पार्किंग स्टैंड पर रोज कई हजार गाड़ी आती थी उन पर आज केवल कुछ गाड़ियां खड़ी है जिसका मालिक लाक डाउन से नहीं आया यह मौका पुलिस बल के लिए बेहद सुविधाजनक है वे चाहे तो जिलेभर में चोरी की गाड़ियों की खोज पार्किंग याड में कर सकते हैं ट्रेन बंद होने का सीधा असर पार्किंग स्टैंड पर भी पड़ा है बिलासपुर रेलवे स्टेशन के बाहर दोपहिया वाहन रखने के लिए तीन स्टैंड हैं जिनकी क्रमश: क्षमता 450 वाहन, 800 वाहन और 1200 वाहन की है यह सभी स्टैंड अब खाली है स्टैंड का वह स्टॉप जो सिंगल ड्यूटी कर रहा है से चर्चा करने पर पता चला कि कुछ गाड़ियां उस दिन की है जिस दिन ट्रेन बंद हुई शेष गाड़ियां बहुत पहले से खड़ी हैं चर्चा करने पर यह भी पता चला कि न्यूनतम किराया 10 से 12 रुपए प्रति 4 घंटे हैं तथा 24 घंटे का किराया 20 रुपए है रोज 5 हजार से लेकर 15 हजार रुपए तक का व्यवसाय होता है जिसमें से रेलवे के खाते में प्रतिमाह लगभग 15 लाख रुपए जाता है तथा जीएसटी के खाते में लगभग दो लाख रुपए जाता है कर्मचारियों का वेतन अलग से किंतु इस समय ड्यूटी पर एक कर्मचारी से ही काम चल जा रहा है स्टैंड पर एक गाड़ी एक्टिवा CG 10 Z 3742 ऐसी भी मिली जिसकी सड़क दुर्घटना की जानकारी है इस वाहन का मालिक सरकंडा बंगाली गली में रहता है किंतु विगत 4 माह से वाहन उठाने नहीं आया यह बात जांच का विषय है कि मेजर दुर्घटनाग्रस्त गाड़ी साइकिल स्टैंड में पार्क कैसे कर ली गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here