रायगढ़. लाल ईट के कारोबार को लकर जहां कई प्रकार के असमंजस कर स्थिती निर्मीत होते रहती है तो वही इस मामले में लाल इर्ट के कारोबार को लेकर कुम्हार कल्याण संध ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंप कर इंसाफ की गुहार लगाई है. जिसमें कुम्हारो ने पटवारी ,ग्राम पंचायत सचिव तहसीलदार,जिला प्रसाशन सहित एसडीएम पुलिस प्रशासन एवं खनिज विभाग पर भी कई गभीर आरोप लगाते हुए बताया कि लाल ईट बनाने के लिये उन्हे शासन ने 10 लाख लाल इर्ट बनाने के लिये राज्य शासन ने छुट दी है परंतु जिले के कई शासकीय विभाग के नुमाइंदे कुम्हारो को चमका धमका कर फ्री में लाल ईट की मांग करते है

इसका विरोध करने पर उल्टा उन्हे दबाव बनाते है इस मामले में ग्राम पंचायत तरेकेला के कुम्हार प्रजापति सहित कल्याण सघ ने कलेक्टर के नाम सौपें ज्ञापन में यह भी बताया कि ग्राम पंचायत बोंदा टिकरा ग्राम पंचायत गढउमरिया में उमेश भार्गव नामक व्यक्ती जबरन जब्ती बना कर 90 हजार 500 रूपये की मांग कर रहे है. गांव के सरपंच भी रिस्वत मांगते है और नही देने पर अनापत्ति प्रमाण पत्र देने में आनाकानी करते है. ऐसे में कुम्हार प्रजाति के लोग इस सरकारी नुमांदो और अफसरो से परेशान है. कुम्हारो ने इस मामले में कलेक्टर से इंसाफ की गुहार लगाते हुए कहा कि कुम्हार प्रजाति के लोगो के जीवन यापन का एक मात्र जरीया है और यही स्थिती रही तो कुम्हारो के सामने भूखो मरने की नौबत आ जायेगी.