वीडियो कांफ्रेस के माध्यम से मुख्य सचिव ने दिए कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए आवश्यक दिशा निर्देश

0
12

जशपुरनगर 01 जून 2020/छत्तीसगढ़ शासन के मुख्य सचिव श्री आर.पी.मण्डल ने आज वीडियो कांफ्रेस के माध्यम से 28 जिले के कलेक्टरों को कोरोना वायरस संक्रमण एवं सुरक्षा के संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिए। जशपुर जिले से कलेक्टर श्री महादेव कावरे, पुलिस अधीक्षक श्री शंकरलाल बघेल, वनमण्डलाधिकारी श्री कृष्ण जाधव, अपर कलेक्टर श्री आई.एल.ठाकुर, सीईओ जिला पंचायत श्री के.एस.मण्डावी, एसडीएम श्री योगेन्द्र श्रीवास, डिप्टी कलेक्टर श्री आर.एन.पाण्डेय, डिप्टी कलेक्टर चेतन साहू, सुश्री आकांक्षा त्रिपाठी, सीएमएचओ श्री पी. सुथार, सीएमओ श्री बसंत बुनकर, डीपीएम श्री गनपत नायक उपस्थित थे।
                 मुख्य सचिव ने क्वारेंटाईन सेंटरों के व्यवस्थाओं की समीक्षा की। उन्होंने वाीडियो कांफ्रेस के माध्यम से क्वारेंटराईन सेंटर में रहने वाले लोगों की अवधि पूर्ण करने के बाद स्वास्थ्य की अच्छी तरह से जांच करने के बाद ही छोड़ने के निर्देश दिए है। घर लौटने के बाद श्रमिक अगले 10 दिनों तक होम क्वारेंटाईन में रहने एवं इसके दिशा निर्देशों का पालन करने भी कहा गया है। साथ ही आगामी 8 जून से धार्मिक स्थलों को खोले जाने की संभवना है जिसे देखते हुए तैयारी सुनिश्चित करने कहा गया है। नगरीय क्षेत्रों में खोल गए ठेलों के मध्य दुरियां बनाकर रखने के लिए कहा गया है। उन्होंने कोरोना वायरस संक्रमण से हाॅट-पाॅट से लौटे श्रमिकों पर विशेष नजर रखने के निर्देश दिए है। कौशल और प्रशिक्षण के आधार पर स्थानीय स्तरपर भी युवाओं को रोजगार की व्यवस्था किए जाने के लिए भी कहा गया है। उन्होंने जिले में आईशोलेसन सेंटर बढ़ाने के निर्देश दिए है। साथ ही ई-पास के द्वारा ही लोगों को आने जाने की सुविधा देने के निर्देश दिए है। कोरोना संेटर में बाहर से आने वाले लोगों का सेम्पल लेकर अनिवार्य रूप से टेस्टिंग करने के लिए भी कहा गया है। साथ ही कांन्टेक्ट ट्रेसिंग को भी अधिक संख्या में करने के निर्देश दिए गए है। आगामी दिनों में आॅटो, टैक्सी के परिवहन-आवागमन की छुट दी जा सकती है जिसके तहत् सीमित संख्या में परिवहन करने की छुट रहेगी। उन्होंने जिले के क्वारेंटाईन सेंटर में रहने वाले मजदूर मनरेगा के तहत् कार्य करना चाहते हैं तो उन्हें भी रोजगार देने कहा गया है ताकि उन्हें भी रोजगार से जोड़ा जा सकें। रेड जोन वाले क्षेत्रो में सोशल डिस्टेंश और कांन्टेक्ट ट्रेसिंग के साथ मास्क का भी उपयोग करने के लिए लोगों को निर्देश दिए जाए। जिन क्वारेंटाईन सेंटरों में पाॅजिटिव मरीज पाए जा रहे उन क्षेत्रों को कन्टेनमेंट जोन में रखा जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here