Home छत्तीसगढ़ समय-सीमा की ली गई बैठक…. पौध रोपण के लिए दिए गए लक्ष्य...

समय-सीमा की ली गई बैठक…. पौध रोपण के लिए दिए गए लक्ष्य को शत् प्रतिशत् पूर्ण करे अधिकारी-कलेक्टर

0
6

वन अधिकार पट्टा वितरण की विस्तृत समीक्षा की गई, अधूरे निर्माण कार्याें का शीघ्रता से पूर्ण कराने के निर्देश….समस्त पूर्ण हो चुके निर्माण कार्याें में बोर्ड,स्टीकर लगाने के भी निर्देश

जशपुरनगर 30 जून 2020/ कलेक्टर श्री महादेव कावरे ने आज कलेक्टर सभाकक्ष में साप्ताहिक समय-सीमा की बैठक ली। उन्होंने टीएल की लंबित प्रकरणों का निराकरण गंभीरता से करने के निर्देश दिए है। वन अधिकार पट्टा की समीक्षा के दौरान सामुदायिक एवं व्यक्तिगत  निरस्त पट्टो का पुनः समीक्षा कर पात्र हितग्राहियों को पट्टो वितरण करने के निर्देश दिए है। इस अवसर पर वनमण्डलाधिकारी श्री कृष्ण जाधव, सीईओ जिला पंचायत श्री के.एस.मण्डावी, अपर कलेक्टर श्री आई.एल.ठाकुर, डिप्टी कलेक्टर आर.एन.पाण्डेय, डिप्टी कलेक्टर श्री चेतन साहू, डिप्टी कलेक्टर सुश्री आकांक्षा त्रिपाठी एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
उन्होंने स्वास्थ्य विभाग, कृषि विभाग, जलसंसाधन विभाग, लोकनिर्माण, महिला बाल विकास, गृह निर्माण मंडल, श्रम विभाग, पशु पालन एवं अन्य विभागों को पौध रोपण के लिए दिए गए लक्ष्य को शत् प्रतिशत् पूर्ण करने के निर्देश दिए है। जिले में लगभग 15 लाख 8 हजार पौधे विभिन्न विभागों द्वारा पौध रोपण का कार्य किया जाना है। उन्होंने कहा कि सभी स्कूलों में मुनगा के पौधे अधिक से अधिक मात्रा में लगाए।
कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि खनिज न्यास निधि एवं अन्य मदों के तहत् पूर्ण हो चुके कार्याें में बोर्ड, स्टीकर एवं एजेंसी का नाम उल्लेख करने के लिए कहा है ताकि लोगों को यह जानकारी हो सके की यह निर्माण कार्य किस मद से  किया गया है। साथ ही खनिज निधि के तहत् पूर्ण हो चुके कार्यांे को पूर्णता प्रमाण-पत्र देने निर्देश दिए गए है। उन्होंने लंबित प्रकरणों की जानकारी लेते हुए कलेक्टर जनचैपाल, मुख्यमंत्री जनचैपाल के समस्त आवेदनों को तत्काल निराकृत करने कहा है। साथ ही निर्माण कार्य में जिन स्थानों पर कार्य की गति धीमी है उन निर्माण कार्य में मजदूरों की संख्या बढ़ाकर जल्द से जल्द कार्य पूर्ण कराने के निर्देश भी दिए है।
उन्होंने स्कूल आश्रम छात्रावासों, आंगनबाड़ी का चिन्हांकन करके स्मार्ट माॅडल के रूप में विकसित करने को कहा है ताकि नवाचार के तहत् माॅडल के रूप बनाया जा सके। सभी विभाग के अधिकारियों को जिले में बनाए जा रहे सेनिटाईजर का भी उपयोग करने के लिए कहा है ताकि अधिक से अधिक लोग इसका लाभ उठा सके। नल जल योजना के तहत् विभिन्न पंचायतों से आवश्यकतानुसार प्रस्ताव आमंत्रित करने के निर्देश संबंधित विभाग को दिए है। जिससे ग्रामीणों को योजना से लाभांवित किया जा सके। उन्होंने पहाड़ी कोरवा क्षेत्रों में समीक्षा कर हैण्डपंप एवं अन्य माध्यम से पानी की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए है।
कलेक्टर ने  मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक एवं अन्य रिक्त पदों पर भर्ती के करने के निर्देश दिए है। उन्होंने डीएमएफ से एमबीबीएस डाॅक्टर की भर्ती करने के निर्देश दिए है। साथ ही जीएनएम माध्यम से वाहन की खरीदी भी करने कहा है। डीडीटी का छिड़काव में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने क्वारेंटाईन सेंटर में नए मजदूरों के साथ पुराने मजदूरों को नहीं रखने के निर्देश दिए है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here