सूरजपुर कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक ने नवोदय विद्यालय क्वारंटीन सेंटर का किया निरीक्षण

0
16

अन्य राज्यों से आने वाले श्रमिकों के लिए नवोदय बसदेई में बनाई गई क्वारंटाइन कैंप

Advertisement

जिले के प्रवासी श्रमिकों को ठहरने तथा सुरक्षा के होंगे पुख्ता इंतजाम

कैम्प में बनेगी कन्ट्रोल रूम, श्रमिकों की गतिविधियों पर नजर रखने लगाई जाएगी सीसीटीव्ही कैमरा

निरज साहू….

सूरजपुर:04 मई 2020/ दूसरे राज्यों के प्रवासी श्रमिक जो सूरजपुर जिले के निवासी है उन्हें क्वारंटीन करने को लेकर जिला प्रशासन व पुलिस के द्वारा सभी व्यवस्थाओं को सुनिश्चित कराने को लेकर काफी गंभीर एवं सजग है। सूरजपुर के कई क्षेत्रों के काफी संख्या में लोग अन्य प्रदेशों में काम कर रहे थे और वहां लाॅकडाउन की वजह से फंसे हुए थे जो अब वापस जिले में आ रहे है, आने के बाद इन श्रमिकों को 14 दिन के लिए क्वारंटाइन कैम्प में रखा जाएगा। जिसके लिए बसदेई स्थित जवाहर नवोदय विद्यालय बसदेई को जिला क्वारंटीन कैम्प बनाया गया है जिसका सोमवार 04 मई 2020 को कलेक्टर दीपक सोनी व पुलिस अधीक्षक राजेश कुकरेजा ने निरीक्षण कर क्वारंटीन कैम्प की व्यवस्था को सुनिश्चित कराने को लेकर कई अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी है।

सोमवार को नवोदय बसदेई पहुंचकर कलेक्टर दीपक सोनी व पुलिस अधीक्षक राजेश कुकरेजा ने विद्यालय परिसर का निरीक्षण किया एवं कई विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर क्वारंटीन कैम्प में दवाई, खाने-पीने, जरूरी वस्तुओं के परिवहन एवं विशेष सावधानी बरतने के संबंध में विस्तृत दिशा-निर्देश दी। प्रवासी श्रमिकों को लिए बनाए जा रहे इस क्वारंटीन कैम्प में कमरों की संख्या, साफ शौचालय, स्नान घर, विद्युत आपूर्ति, प्रकाश व्यवस्था, साफ पानी, चिकित्सा एवं सुरक्षा व्यवस्था को सुनिश्चित करा दुरूस्त क्रियान्वयन कराने कई विभागों के अधिकारियों को इसकी जिम्मेदारी सौंपी है।

कैम्प की व्यवस्था को लेकर कलेक्टर ने इन विभागों को सौंपी जिम्मेदारी

कलेक्टर दीपक सोनी ने पीएचई विभाग को पूरे विद्यालय को सेनेटाईजर करने, आने वाले श्रमिकों को मास्क उपलब्ध कराने, जल संसाधन विभाग को अस्थाई कन्ट्रोल रूम स्थापित करने, प्रत्येक कमरे में बाल्टी, मग्गा, साबुन, तौलिया सहित सभी कमरों में माईक सिस्टम लगाने के निर्देश दिए ताकि वहां रूकने वाले मजदूर माईक से अपनी बात व्यवस्था में लगे कर्मचारियों तक पहुंचा सकें। इसी प्रकार लोक निर्माण विभाग को विद्यालय के चारों ओर मजबूत बैरिकेट लगाने के निर्देश दिए है। इस दौरान *कलेक्टर श्री सोनी ने कहा कि क्वारंटीन कैम्प में सबसे महत्वपूर्ण जिम्मेदारी स्वास्थ्य एवं पुलिस विभाग की होगी जिसके तहत स्वास्थ्य अमला हर संमय वहां मौजूद रहकर प्रत्येक श्रमिकों का स्वास्थ्य जांच करेगी एवं पुलिस के अधिकारी व जवान पुख्ता सुरक्षा बन्दोबस्त बनाए रखेगी।
कलेक्टर दीपक सोनी ने बताया कि दूसरे प्रदेशों से आने वाले प्रवासी श्रमिक जो इस जिले के निवासी है उनके आने पर उन्हें 14 दिनों के लिए क्वारंटीन कैम्प में रखा जाएगा। इस दौरान उन्हें चिकित्सा सुविधा, साफ पानी, भोजन, स्वच्छ स्नानघर, सूचना देने के लिए लाउड स्पीकर, लाउड हेल, साफ-सफाई और सुरक्षा की व्यवस्था की जाएगी। प्रवासी श्रमिकों के आने से पहले पूरे विद्यालय को सैनेटाइज कराया जाएगा।

क्वारंटीन कैम्प में पुलिस की रहेगी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

पुलिस अधीक्षक राजेश कुकरेजा ने बताया कि दूसरे राज्यों से आ रहे प्रवासी श्रमिक जो इस जिले के निवासी है उनके यहां आने पर उनकी पूरी बायाडाटा ली जाएगी, क्वारंटीन कैम्प में रहने के दौरान श्रमिक को एक नंबर आबंटित किया जाएगा जो पूरे क्वारंटीन अवधि के दौरान श्रमिक की प्रत्येक गतिविधि पर आबंटित नंबर के आधार पर की जायेगी। क्वारंटीन कैम्प एवं उसके आसपास पुलिस टीम लगातार पेट्रोलिंग करेगी और पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखेगी। उन्होंने कहा कि सुरक्षा के मद्देनजर क्वारंटीन कैंप पर कड़ी निगरानी रखने प्रशासन के द्वारा सीसीटीव्ही कैमरा लगाई जायेगी।

इस दौरान जिला पंचायत सीईओ श्री अश्वनी देवांगन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर, एसडीएम पुष्पेन्द्र शर्मा, सीएसपी जे.पी.भारतेन्दु, तहसीलदार नंदजी पाण्डेय, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. आर.एस.सिंह, पीएचई, जल संसाधन व पीडब्ल्यूडी के अधिकारीगण मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here