आशीष तिवारी आप की आवाज रायपुर

रायपुर। छत्तीसगढ़ में नक्सल मोर्चे पर तैनात जवानों के लिए अच्छी खबर है। CRPF और DRDO ने मिलकर “बाइक एंबुलेंस” बनाया है। जिससे जवानों को काफी हद तक राहत मिलेगी। इस एम्बुलेंस की ख़ास बात यह रहेगी कि जिन जगहों पर रास्ते नहीं होंगे, वहाँ पर भी यह बड़े आसानी से पहुँच सकेगी।

सीआरपीएफ डीजी आनंद प्रकाश माहेश्वरी ने शुक्रवार को आरंग के ग्राम भिलाई में नए प्रशासनिक भवन ग्रुप केंद्र का लोकार्पण किया। इस अवसर पर माहेश्वरी ने 20 बाइक एम्बुलेंस को हरी झंडी दिखाकर बस्तर के लिए रवाना किया।

CRPF के DG ए.पी. माहेश्वरी ने बताया, “ये मोटरसाइकिल CRPF और DRDO की मदद से बनाई गई है। जहां भी हमारे सैनिक तैनात होंगे, जहां पर सड़क नहीं होंगी वहां पर ये मोटरसाइकिल एंबुलेंस का काम करेंगी।”

आसानी से सवार हो सकता है मरीज

बाइक एम्बुलेंस” को रॉयल एनफ़िल्ड की बुलेट में इंस्टाल किया गया है। जिसमें पीछे की सेट पर एक एडजेस्टेबल बेड को इंस्टाल किया गया है। इसमें एक मरीज बड़े ही आसानी से इसमें सवार हो सकता है। इसमें ऑक्सिजन सिलेंडर जैसे कुछ ज़रुरी मेडिकल एक्यूपमेंट की सुविधा भी दी गई है। जो जवानों के लिए घायल अवस्था में जीवन रक्षक साबित होगा।