पत्रकारों से उल्टा सवाल कर रहे कि आप होते कौन हैं पूछने वाले एवं कर रहे फ़ोन पर दुर्व्यवहार
बालाजी हॉस्पिटल के डॉक्टर संतोष जाडिया नही आ रहे सामने
डर की वजह से सामने आकर बात करने में कतरा रहे कि कही चिट्ठा पट्ठा ना खुल जाए मीडिया में

आशीष तिवारी @रायपुर। राजधानी रायपुर के टिकरापारा स्थित बालाजी हॉस्पिटल के डॉक्टर संतोष जाडिया मीडिया कर्मियों से बात करने में घबरा रहे हैं कि कहीं उनके कारनामे मीडिया में उजागर ना हो जाए।

एक मरीज के एवं उनके परिजनों से दुर्व्यवहार करते हुए डॉक्टर संतोष जाडिया गुंडागर्दी एवं बदत्तमीजी पर उतर आए हैं। हाल ही में एक मामले पर पत्रकार पूछताछ एवं पुष्टिकरण करने डॉक्टर जाडिया से मिलने तथा जानकारी प्राप्त करने पहुँचे बालाजी हॉस्पिटल तो हॉस्पिटल में रहते हुए भी मैं किसी को कोई जवाब नही दूँगा कहकर सवालों से डरकर भाग रहे हैं तथा जब पत्रकार ने विनम्रतापूर्वक डॉक्टर जाडिया से मरीज के संबंध में बातचीत करने पहुँचे तो डॉक्टर सामने नही आए तथा धमकाने लगे कि इस तरह की कोशिश ना करें सवाल पूछने का मीडिया वालों का कोई हक नही है।

उल्टे मीडिया कर्मी को ही कहने लगे किस बिनाह पे मीडिया पूछताछ करने आई है, कहा कि मैं मीडिया को जवाब देना जरूरी नही समझता

जबकि पत्रकार को पीड़ित मरीज एवं उनके परिजनों ने ही संपर्क किया कि बालाजी में डॉक्टर संतोष जाडिया हमसे बिल तथा डिसचार्ज के संबंध में जानकारी नही दे रहे एवं सवाल पूछने पर उन्हें डराया धमकाया भी जा रहा है डॉक्टर जाडिया द्वारा।

मीडिया कर्मी ने जब डॉक्टर जाडिया से कहा कि मैं हॉस्पिटल में ही हूँ और आपसे इस विषय मे बात करने आया हूँ इसपर डॉक्टर ने दुर्व्यवहार करते हुए फ़ोन काट दिया।

अगर डॉक्टर सही हैं तो आमने सामने बात करने में इतना घबरा क्यों रहे हैं मीडिया कर्मियों से बात करने में यह एक अहम सवाल है। इन सब बातों से यह स्पष्ट पता चलता है कि डॉक्टर जाडिया का जवाब नही देना और मुंह छुपाकर भागना , सामने नही आना कोई ना कोई हॉस्पिटल में चल रही गड़बड़ी की ओर अंदेशा दे रहा है।