मुंबई: सुशांत सिंह मौत मामले में जारी सीबीआई, एनसीबी और ईडी के जांच बीत शिवसेना और कंगना रनौत के बीच शब्दों की जंग जारी है. शिवसेना के मुखपत्र सामना ने आज एक बार फिर कंगना के असुरक्षित मुंबई को लेकर दिए बयान पर निशाना साधा है.

सामना ने कंगना के बयान को मुंबा देवी जोड़ दिया है. शिवसेना ने सामना में लिखा है कि मुंबई ‘मुंबाई’ देवी का ही प्रसाद है. इसी मुंबई के लिए 106 मराठी लोगों ने अपना बलिदान दिया है. बता दें कि शिवसेना के अखबार सामना के संपादक सांसद संजय राउत हैं, जिनके साथ पिछले कुछ समय से कंगना का ‘वर्ड वॉर’ चल रहा है.

PoK से तुलना बिगड़ी हुई मानसिकता के लक्षण- शिवसेना
सामन में शिवसेना ने मुंबई की तुलना पाक अधिकृत कश्मीर से करने को बिगड़ी हुई मानसिक स्थिति का लक्षण बताया है. सामना में लिखा, ”मुंबई किसकी? यह सवाल ही कोई ना पूछे. मुंबई महाराष्ट्र की राजधानी है ही, लेकिन देश का सबसे बड़ा आर्थिक लेन-देन का केंद्र भी है. इसी मुंबई के लिए 106 मराठी लोगों ने बलिदान दिया है. इसलिए मुंबई महाराष्ट्र की ही है. मुंबई में ईमान से रहने वाले सब लोगों की है क्योंकि यह हिंदुस्थान की है. इसके पहले वह छत्रपति शिवराय के महाराष्ट्र की है. इसीलिए वह हिंदुस्थान की भी है. मुंबई की तुलना ‘पाक अधिकृत’ कश्मीर से करना और मुंबई पुलिस को माफिया आदि बोलकर खाकी वर्दी का अपमान करना बिगड़ी हुई मानसिकता के लक्षण हैं.”

सुरक्षा देने पर केंद्र सरकार पर उठाए सवाल
सामना में कंगना को Y+ श्रेणि की सुरक्षा पर देने पर मोदी सरकार को भी निशाने पर लिया गया है. सामने में शिवसेना ने लिखा, ”महाराष्ट्र की 11 करोड़ मराठी जनता और मुंबई का अपमान मतलब देशद्रोह जैसा अपराध प्रतीत होता है. लेकिन जब ऐसा अपराध करनेवाले लोगों के साथ राष्ट्रभक्त मोदी सरकार का गृह मंत्रालय सुरक्षा कवच देकर खड़ा होता है, तब हमारे 106 शहीद स्वर्ग में आंसू बहा रहे होंगे.”

 मुंबई ‘मुंबाई’ देवी का ही प्रसाद है- सामना
इसी में आगे लिखा है, ”अमदाबाद, गुड़गांव, लखनऊ, वाराणसी, रांची, हैदराबाद, बेंगलुरु और भोपाल जैसे शहरों के बारे में अगर कोई अपमानजनक बयान देता तो केंद्र ने उसे ‘वाय’ सुरक्षा की पालकी दी होती क्या? यह महाराष्ट्र के भाजपाई स्पष्ट करें.” सामना में लिखा है, ” भारतीय जनता पार्टी मुंबई और राज्य के मुख्यमंत्री का अपमान करनेवालों का सीधे-सीधे समर्थन कर रही है. इस दौरान मुंबई पर अपना हक जतानेवाले बहुत सारे लोग आगे आए हैं. लेकिन मुंबई ‘मुंबाई’ देवी का ही प्रसाद है. मुंबई या मुंबादेवी कोली लोगों की कुलदेवी हैं.”

कंगना के बहाने चीन को लेकर मोदी सरकार पर तंज
कंगना विवाद के बहाने शिवसेना ने चीन सीमा पर जारी तनाव को लेकर भी मोदी सरकार पर तंज कसा है. सामना में शिवसेना ने लिखा, ”आज जिस प्रकार से सारे भाजपावाले महाराष्ट्रद्रोहियों के साथ खड़े हैं, उसी विश्वास से हमारी सीमा में घुसे चीनी बंदरों के बारे में हिम्मत दिखाई होती तो लद्दाख तथा अरुणाचल की सीमा पर देश की बेइज्जती ना होती.”

आज मुंबई पहुंचेगी कंगना रनौत, कोरोना रिपोर्ट का इंतजार
अभिनेत्री कंगना रनौत को आज 9 सितंबर को मुंबई पहुंचना है. इससे पहले मंगलवार को कंगना की कोरोना रिपोर्ट ‘इनकनक्लूसिव’ आई है यानि उनका टेस्ट के लिए स्वैब दोबारा लिया गया है. आज दोपहर तक कंगना की कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट आएगी.

हालांकि कंगना की बहन रंगोली और सहायक रिजवान सईद की कोविड टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आई है. अब कंगना का मुंबई जाना टल सकता है. अब सवाल ये है कि चंडीगढ़ से दोपहर 12 बजे की फ़्लाइट कंगना कैसे पकड़ेगी? गौरतलब है कि सैम्पलिंग ठीक ना होने के कारण ‘इनकनक्लूसिव आती है.