रांची: राष्ट्रीय जनता दल के नेता और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की गुरुवार को अचानक तबीयत बिगड़ गई। चारा घोटाले मामले में सजायाफ्ता और रिम्स अस्पताल के पेइंग वार्ड में इलाज करवा रहे लालू यादव की स्थिति नाजुक बताई जा रही है। अचानक लालू की तबीयत खराब होने से अफरा-तफरी का माहौल हो गया। इसके बाद झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन उनका हालचाल जानने रिम्स पहुंचे।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, लालू यादव को सांस लेने में परेशानी हो रही थी। उनके फेफड़े में इंफेक्शन हो गया है। जैसे ही डॉक्टर को इस बारे में जानकारी मिली तुरंत उनका कोरोना टेस्ट किया गया। जिसकी रिपोर्ट निगेटिव आई है। लालू की अचानक तबीयत बिगड़ने की जानकारी मिलते ही झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता भी उनका हाल जानने अस्पताल पहुंचे थे।

पूर्व मुख्यमंत्री की हालत का जायजा लेने रिम्स डायरेक्टर कामेश्वर प्रसाद भी मौके पर पहुंचे। उन्होेनें बताया की लालू की हालत अब स्थिर है। शाम 7 बजे लालू की तबीयत अचानक बिगड़ गई। इसके बाद डा. उमेश प्रसाद व डा. डीके झा उनका इलाज कर रहे हैं। रिम्स निदेशक ने चेस्ट में इंफेक्शन की पुष्टि की है। लालू की हालत को लेकर एम्स के चिकित्सकों से परामर्श किया जा रहा है।

बीते 3 सालों से लालू जेल में हैं। इस दौरान उन्हें कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं से गुजरना पड़ा। वे लगभग ढाई साल से रिम्स में इलाज करवा रहे हैं। लालू यादव के स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याओं को लेकर सुनवाई की तिथि 22 जनवरी की निर्धारित की गई यानी शुक्रवार को अब इस मामले पर सुनवाई होगी।