अंबिकापुर कार्यपालन अभियंता के खिलाफ अनुसाशात्मक कार्यवाही के दिए गए निर्देश

2020-21के बजट के लिए दिनांक 30 सितंबर तक प्राक्कलन जमा करने के दिए गए निर्देश

रायपुर। लोक निर्माण विभाग मंत्री ताम्रध्वज साहू वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से लोक निर्माण विभाग की समीक्षा बैठक की। कोरोना संक्रमण काल में यह विभाग की पहली समीक्षा बैठक है। बैठक में मुख्यमंत्री सुगम सड़क योजना, वर्षाकाल के बाद मार्गों की मरम्मत की योजना, भविष्य की योजनाओं की समीक्षा की गई ।

बैठक में ये फैसले लिए गए हैं तथा इस हेतु आवश्यक दिशा निर्देश विभाग के अधिकारियों को दिए गए हैं-

1. लोक निर्माण विभाग में समस्त विधानसभा क्षेत्रों के लिये ‘‘मुख्यमंत्री सुगम सड़क योजना‘‘ अंतर्गत कुल कार्यों की संख्या 1887 लागत रू. 217.48 करोड़ की स्वीकृति प्रमुख अभियंता कार्यालय द्वारा दी गई है। इन समस्त कार्यों की निविदा की कार्यवाही शीघ्र पूर्ण किया जाना है।

2. वर्षाऋतु के पश्चात मार्गों का मरम्मत कार्य यथाशीघ्र किया जाना –

लोक निर्माण विभाग के अंतर्गत संधारित की जाने वाली सड़कों पर वर्षा़ऋतु (15 अक्टूबर 2020) के पश्चात् डामर पेच रिपेयर का कार्य शीघ्र प्रारंभ किया जाना है तथा दिनांक 31.12.2020 तक समस्त मार्गों पर पेच रिपेयर का कार्य अनिवार्यतः पूर्ण किया जाना है। इस हेतु एजेंसी (ठेकेदार) नियुक्त किया जाना है तथा प्रत्येक एजेंसी का डामर प्लांट चालू कराने हेतु पूर्ण तैयारी कर ली जावे। इस हेतु दिनांक 31.12.2020 तक समस्त पेच रिपेयर के अनुबंधों को पहले प्राथमिकता देते हुये कार्य कराया जाना है ताकि जनता को आवागमन में किसी भी प्रकार असुविधा उत्पन्न न हो। गुणवत्ता युक्त पेच रिपेयर किया जावे जिससे मार्ग पुनः खराब न हो।

राष्ट्रीय राजमार्ग संभाग अंबिकापुर द्वारा अंबिकापुर से रामानुजगंज मार्ग नवंबर 2019 में रू. 80 लाख का किया हुआ पेच रिपेयर का कार्य मई 2020 तक ध्वस्त हो गया जिसके कारण इस महत्वपूर्ण मार्ग की स्थिति खराब है, न केवल आर्थिक क्षति हुई बल्कि मार्ग और भी ज्यादा खराब हो गया, इस कार्य हेतु कार्यपालन अभियंता के विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही प्रारंभ की गई है। ऐसी स्थिति अन्य मार्गों में उत्पन्न नहीं होनी चाहिये।

3. लोक निर्माण विभाग में वर्ष 2019-20 में 2020-21 कुल 555 मार्गों पर रू. 26083.00 लाख के लिये 1489.18 किलोमीटर में नवीनीकरण की स्वीकृति प्रदान की गई है। इन कार्यों की निविदा की कार्यवाही पूर्ण कर 15 अक्टूबर 2020 से प्रारंभ कर 28 मार्च 2021 तक पूर्ण किया जाना है।

4. लोक निर्माण विभाग में योजना मद के अंतर्गत वन अनुमति हेतु 65 प्रकरण, भूमि अधिग्रहण के 145 प्रकरण, यूटिलिटी शिफ्टिंग के लिये 38 प्रकरण तथा अतिक्रमण एवं अन्य कारणों के 24 प्रकरण लंबित है। इन सभी कार्यों की समीक्षा मुख्य अभियंता एवं अधीक्षण अभियंता अपने परिक्षेत्र के कार्यों की करें तथा आगामी बैठक में विस्तृत ब्यौरा प्रस्तुत करें कि प्रशासकीय स्वीकृति के बाद कितना कार्य पूर्ण है तथा कितना अपूर्ण है। अपूर्ण कार्यों को कब तक पूर्ण किये जाने का लक्ष्य है। कार्ययोजना बनाकर अपूर्ण कार्यों को पूर्ण किया जावे।

5. प्राक्कलन की प्रस्तुतिकरण –

लोक निर्माण विभाग के बजट वर्ष 2020-21 में प्रावधानित कार्यों का प्राक्कलन यथाशीघ्र (दिनांक 30.09.2020) तक अनिवार्य रूप से शासन के समक्ष प्रस्तुत करें।

6. सड़क-सुरक्षा कार्य –

(6.1) सड़कों में हो रही दुर्घटना के प्रति लोक निर्माण विभाग संवेदनशील है। इस हेतु जहाँ भी मार्ग निर्माण का कार्य किया जाना है वहाँ ज्यामिति को ध्यान में रखकर निर्माण कार्य किया जावे। जहाँ हो सके एकरेखण में मार्ग निर्माण किया जावे जिससे दुर्घटना की स्थिति उत्पन्न न हो।

(6.2) रोड जंक्शन पर दुर्घटना के बचाव हेतु मुख्य मार्ग पर आकर मिलने वाले मार्ग पर रोड साईनेज बोर्ड एवं आवश्यकतानुसार जिला सुरक्षा समिति से अनुमोदन प्राप्त कर स्पीड बे्रकर का निर्माण किया जावे। राष्ट्रीय राजमार्गों पर जेब्रा मार्किंग किया जावे ।

(6.3) जहाँ पर भी रोड ब्रेकर निर्मित है उन समस्त ब्रेकरों को मानक अनुसार सुधार कार्य कर लिया जावे तथा ब्रेकर के दोनों ओर सूचना बोर्ड तथा ब्रेकर के पास खाली ड्रम लगाया जावे। देखा गया है कि ब्रेकर ही दुर्घटना का कारण बन गया है। ऐसी सूचना प्राप्त होने पर कड़ी कार्यवाही की जायेगी।

(6.4) अत्यधिक यातायात वाले स्थान पर जहाँ आर.ओ.बी./फ्लाई ओव्हर निर्माण किये गये हैं उन पुलों के रेलिंग में प्राथमिकता से जाली लगाया जावे।

(6.5) मार्गों पर निर्मित गड्ढ़े भी दुर्घटना का एक कारण है। इस कारण से भी लगातार दुर्घटनाएं हो रही हैं। विभाग में पर्याप्त राशि होने के बाद भी विभाग गड्ढ़ों को भरने में लापरवाही बरत रही है। किसी भी मार्गों पर बड़े गड्ढ़े नहीं रहना चाहिये।

(6.6) बिलासपुर संभाग, सूरजपुर संभाग, कोरिया संभाग, राजनांदगांव तथा कोरबा संभाग द्वारा चिन्हित ब्लैक स्पाॅट का सुधार कार्य पूर्ण नहीं किये हैं। अनिवार्यतः अक्टूबर 2020 तक पूर्ण करें।

(6.7) रोड सेफ्टी के लिये जंक्शनों का इम्पू्रवमेंट का कार्य करें तथा वर्ष 2020-21 के लिये निर्धारित लक्ष्य 176 ब्लैक स्पाॅट कार्य को पूर्ण करें।

7. आर.सी.पी.एल.डब्ल्यू.ई. के कार्य –

आर.सी.पी.एल.डब्ल्यू.ई. योजना अंतर्गत 316 कार्य की स्वीकृति प्राप्त है। इनमें कुल 190 कार्यों के लिये कार्यादेश जारी किया गया है। अद्यतन तिथि तक 64 कार्यों की निविदा का वित्तीय आॅफर खोला जाना शेष है। प्रमुख अभियंता द्वारा अवगत द्वारा अवगत कराया गया कि मुख्य अभियंता बस्तर परिक्षेत्र द्वारा 38 कार्यों का तकनीकी प्रस्ताव उनके कार्यालय में विगत 02 माह से लंबित है। यह स्थिति अच्छी नहीं है। शीघ्र ही समस्त निविदा खोलने की कार्यवाही पूर्ण करें।

8. कोविड-19 के कार्य – आज विश्व महामारी से गुजर रहा है ऐसी स्थिति में लोक निर्माण विभाग के अधिकारी मजबूती से सेवा भाव से कोविड-19 के लिये कार्य कर रहे हैं। इसके लिये इन अधिकारियों को धन्यवाद ज्ञापित करता हूँ तथा उन्हें अपनी स्वास्थ्य का ध्यान रखने हेतु अगाह भी करता हूँ कि वे अपने स्वयं का तथा अपने परिवार के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुये कार्य संपादित करें। जब तक अत्यावश्यक कार्य न हो अपने अधिनस्थ कार्यालय में अपने अधिकारियों को न बुलावें।