नई दिल्ली: कांग्रेस नेता राहुल गांधी की ट्रैक्टर रैली को लेकर अब जमीन पर तकरार की नौबत आ गई है. राहुल आज पंजाब से हरियाणा पहुंचने वाले हैं और हरियाणा सरकार ने एलान कर दिया है कि भीड़ के साथ आने पर राहुल के लिए नो एंट्री होगी.

पंजाब तक तो राहुल के लिए मामला घरेलू जैसा है क्योंकि यहां कांग्रेस की सरकार है. सीएम कैप्टन अमरिंदर खुद राहुल के वाइस कैप्टन बने हैं लेकिन ट्रैक्टर हरियाणा की तरफ मुड़ते ही तकरार शुरू हो गई है. मुख्यमंत्री खट्टर भीड़ के साथ आने पर नो एंट्री का बोर्ड लिए तैयार बैठे हैं.

सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा, ”लोकतंत्र में हर किसी को अपनी बात कहने का अधिकार है. हमें इससे कोई आपत्ति नहीं है, केवल लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति को वे अपने हाथ में न लें. अगर वो झुंड बनाकर पंजाब की तरफ से आएंगे तो ऐसा नहीं करने दिया जाएगा.”

गृहमंत्री अनिल विज राहुल को रोकने के लिए दो कदम आगे बढ़ गए हैं. अनिल विज ने राहुल के लश्कर को हुड़दंगियों की टोली बता दी. इस बयान को लेकर कांग्रेस ने अनिल विज को घेरना शुरू कर दिया है और राहुल को रोकने की चुनौती भी दी है.

राहुल गांधी का कार्यक्रम
पंजाब के पटियाला जिले के दुधन साधन में एक जनसभा करेंगे. जिसके बाद ट्रैक्टर रैली शुरु होगी जो 10 किमी की दूरी तय करके हरियाणा के पिहोवा में प्रवेश करेगी. पिहोवा में वह जनसभा को संबोधित करेंगे. इसके बाद राहुल गांधी कुरुक्षेत्र जाएंगे और एक रात वहां ठहरेंगे. बुधवार सुबह पीपली मंडी से उनकी यात्रा शुरू होगी, जहां से वह नीलोखेड़ी जाएंगे. इसके बाद वह करनाल जाएंगे, जहां से ट्रैक्टर रैली शुरू होगी.