कांग्रेस की शीर्ष नीति निर्धारण इकाई कांग्रेस कार्य समिति (सीडल्यूसी) की आज बैठक हुई। इसमें पार्टी के नए अध्यक्ष के चुनाव को लेकर भी चर्चा हुई। पश्चिम बंगाल और असम सहित पांच राज्यों के चुनावों के कारण से अब मई तक के लिए कांग्रेस पार्टी के संगठन चुनाव को मई तक के लिए टाल दिया गया। तब तक के लिए सोनिया गांधी ही अंतरिम अध्यक्ष बनी रहेंगी।

मिल रही जानकारी के मुताबिक, कांग्रेस पार्टी 15 मई से 30 मई के बीच में संगठन चुनाव कराने के प्रस्ताव पर विचार कर रही है। तब तक पश्चिम बंगाल सहित पांच राज्यों के चुनाव संपन्न हो जाएंगे।

सीडब्ल्यूसी की बैठक में सोनिया गांधी ने कहा, ‘हमने कुछ राज्यों में आगामी विधानसभा चुनावों की तैयारी शुरू कर दी है। इस बीच, संगठनात्मक चुनावों के कार्यक्रम को भी CWC की मंजूरी लेनी होगी।’

इस बैठक में नए अध्यक्ष के चुनाव के साथ साथ किसान आंदोलन और कुछ अन्य मुद्दों पर भी चर्चा हुई। सोनिया गांधी ने कहा, ”नया मामला जो राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ा हुआ है। इससे समझौता किया जा रहा है। इस मुद्दे पर सरकार की खामोशी सवाल खड़े कर रही है।जो राष्ट्रवाद का सर्टिफिकेट देते थे आज पूरी तरह से बेनकाब हो गए हैं।”

गौरतलब है कि पिछले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की हार के बाद राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद सोनिया गांधी को अंतरिम अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। बिहार विधानसभा चुनाव और कुछ राज्यों के उप चुनावों में कांग्रेस के निराशाजनक प्रदर्शन के बाद गुलाम नबी आजाद और कपिल सिब्बल जैसे कुछ वरिष्ठ नेताओं ने पार्टी के सक्रिय अध्यक्ष की नियुक्ति की मांग फिर उठाई।

वैसे, कांग्रेस नेताओं का एक बड़ा धड़ा लंबे समय से इस बात की पैरवी कर रहा है कि राहुल गांधी को फिर से कांग्रेस की कमान संभालनी चाहिए। कांग्रेस महासचिव रणदीप सुरजेवाला ने हाल ही में कहा था कि कांग्रेस के 99.99 प्रतिशत लोग चाहते हैं कि राहुल गांधी फिर से उनका नेतृत्व करें।