आशीष तिवारी @रायपुर/बिलासपुर। बिलासपुर स्व- साहयता समूह की महिलाओं ने इस वर्ष दीवाली पर गाय के गोबर से बने दिए, पूजन , हवन सामग्री का स्वयं निर्माण कर अन्य उत्पाद का निर्माण किया तथा कहा कि इस दीवाली पर चीनी दियों का इस्तेमाल ना कर गोबर के बने दिए, हवन सामग्री, धूप, अगरबत्ती से अपने घर आंगन को रौशन करने का आग्रह किया।

स्व- सहायता समूह की महिलाओं ने बताया कि गोबर, मिट्टी,के बने दिए एवं सामग्री इको- फ्रेंडली हैं जिससे जमीन की उर्वरक क्षमता बढ़ जाती है तथा वातावरण को कोई नुकसान भी नही होता। इनका कहना है कि जलने के बाद इसके राख खाद के रूप में काम आती है।

राष्ट्रीय आजीविका मिशन की प्रबंधक माया शुक्ला ने बताया कि स्व-सहायता समूह की महिलाओं द्वारा गोबर, मिट्टी के बने दिए एवं अन्य पूजन सामग्री का निर्माण इनके द्वारा करवाया जा रहा है। तथा महापौर ने शनिचरी पड़ाव में गोठान उत्पाद के स्टॉल का फीता काटकर शुभारंभ भी किया है।

महापौर रामशरण यादव ने खरीदे दिए तथा अन्य सामग्री
महापौर यादव ने शनिचरी में गौठान उत्पाद के स्टॉल का उदघाटन किया एवं 500 रूपए में गोबर के दिये और अन्य सामग्रियों की खरीददारी की। महापौर ने बताया कि सरकार की गोधन न्याय योजना महिलाओं के लिए एक वरदान साबित हुई है तथा मुख्यमंत्री की महत्वकांक्षी योजना नरवा, गरूवा,घुरवा, बाड़ी का स्वरूप अब खुलकर सामने आने लगा है। इस योजना के अंतर्गत रोजगार के नये नये अवसर भी पैदा हो रहे हैं।

जानिए क्या कहा बिलासपुर जोन कमिश्नर 7 प्रवीण शर्मा ने:

बिलासपुर जोन कमिश्नर 7 के प्रवीण शर्मा जी ने कहा कि गोधन न्याय योजना के अंतर्गत शहरी गोठान मोपका में गोबर के बने दिए, गोकाष्ठ, गोनाइल, आदि सामग्री बनाये गए हैं जो 2 रुपए से 25 रुपए तक मिल रहे हैं। इसके अलावा भी अन्य सामग्री कम दरों में उपलब्ध कराए जा रहे हैं। यह शिविर वाल्मीकि चौक शनिचरी बाज़ार के विशाल भवन में लगाया गया है।प्रवीण शर्मा जोन कमिश्नर 7 ने यह अपील की है कि आम जनता ज्यादा से ज्यादा इसका लाभ उठायें।

शुभारंभ के दौरान अपर आयुक्त राकेश जायसवाल,जोन कमिश्नर प्रवीण शर्मा, एमआइसी सदस्य राजेश शुक्ला,बजरंग बंजारे,सीताराम जायसवाल,अजय यादव, पार्षद सुरेश टंडन, श्याम पटेल, रामप्रकाश साहू , आजीविका मिशन की प्रबंधक के अलावा महिला स्व-सहायता समूह के अन्य सदस्य उपस्थित रहे।