अन्य राज्यों कीछत्तीसगढ़न्यूज़

कोविड वैक्सीनेशन के वितरण की ऑनलाइन होगी निगरानी

रायपुर, 25 दिसंबर 2020 

कोरोना संक्रमण की रोकथाम हेतु जिले में कोरोना टीकाकरण की तैयारी शुरू कर दी गई है। कोविड वैक्सीनेशन के लिए सरकारी व निजी स्वास्थ्य कर्मियों को सबसे पहले प्रतिरक्षित करने की योजना है। विगत दिनो जिला टास्क फोर्स की बैठक में जिला कलेक्टर के प्रतिनिधि एवं जिला नोडल अधिकारी के रूप में नियुक्त डिप्टी कलेक्टर सुश्री सिम्मी नाहिद ने कोरोना वैक्सीन के संबंध में सभी तैयारियां दुरुस्त रखने के निर्देश देते हुए एवं जिला प्रशासन द्वारा हर संभव मदद देने की बात कही है। साथ ही जिला टास्क फ़ोर्स को उसके दायित्वों के प्रति अवगत भी कराया गया है ।

जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. अनिल परसाई ने बताया,” कोविन (कोरोना वैक्सीन इंटेलीजेन्स नेटवर्क) पोर्टल पर प्राथमिकता के आधार पर एकत्र की गयी जानकारियों को फीड किया जा रहा है। इसी पोर्टल के माध्यम से सरकार कोविड वैक्सीनेशन के वितरण की ऑनलाइन निगरानी भी करेगी।शासकीय एवं निजी क्षेत्र के कोविड नियंत्रण के कार्यों में संलग्न स्वास्थ्य कर्मियों को प्राथमिकता के आधार पर वैक्सीन लगाई जायेगी। उन्होंने बताया, बैठक में सभी विकासखण्डों के स्वास्थ्य अधिकारियों एवं कर्मचारियों को ब्लॉक स्तर पर पूर्व तैयारी रखने के निर्देश दिए गए हैं एवं जिला प्रशासन ने सभी विभागों से परस्पर सहयोग करने की अपील है।“

जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. अनिल परसाई ने बताया, “भारत सरकार से पूर्ण दिशा निर्देश अभी प्राप्त नहीं हुए हैं संभावना है कि कोरोना के वैक्सीन को 2 से 8 डिग्री सेल्सियस पर ही रखना होगा ।कोरोना वैक्सीन को स्टोरेज करने के लिए वर्तमान में जिले में वैक्सीन के रख-रखाव हेतु पर्याप्त व्यवस्था है।कोरोना वैक्सीन के रखरखाव के बारे में ट्रेनिंग में सभी को बताया गया है।“

उन्होने बताया, “कोविन पोर्टल पर लाभार्थियों के पंजीकरण का कार्य किया जा रहा है। इसके साथ ही कोरोना वैक्सीन के लिए बीएमओ, बीपीओ, डीपीएम, डीटीओ, मेडिकल ऑफिर्स को ट्रेनिंग दी गई है अब वे अपने मातहतों को आगे यह ट्रेनिंग देंगे कि टीका का समुचित रखरखाव कैसे करें, इसे कैसे और किस तरह से लगाना है। ऐसी सम्भावना है कि कोरोना की वैक्सीन इंट्रा मस्कुलर होगी एवं लाभार्थी को इसके दो डोज दिए जाने की सम्भावना है। साथ ही उन्होंने यह भी जानकारी दी कि कोविन पोर्टल के माध्यम से सरकार की ओर से टीकाकरण की ऑनलाइन निगरानी भी की जाएगी। जिसके लिए सभी जरूरी व्यवस्थाएं की जा रही हैं। वैक्सीन के लिए कोल्ड चैन से लेकर उसे सुदूर और जटिल इलाकों तक पहुंचाने के लिए जिला स्तर पर समन्वय समितियां भी बनाई गयीं है”।

एस.एम.एस. के माध्यम से मिलेगी सूचना

कोविन पोर्टल से ही लाभार्थी को एस.एम.एस. के माध्यम से सूचना मिलेगी कि उसको किस दिन और कहां पर कोविड वैक्सीन लगाई जायेगी। इसके लिए पोर्टल पर डेटा फीडिंग का कार्य स्वास्थ्य विभाग द्वारा तेजी से किया जा रहा है। कोरोना वैक्सीन के टीकाकरण के लिए राज्य सरकार के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग ने अपनी तैयारियों को अंतिम रूप देना शुरू कर दिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button